Posts

Showing posts with the label मुद्द्दा

छत्तीसगढ़: एम्बुलेंस नहीं मिली तो बच्ची के शव को 10 KM कंधे पर लेकर चला लाचार पिता, Video

Image
 अंबिकापुर से दिल दहला देने वाला मामला सामने आया डॉक्टर बोले- शव वाहन और वेंटिलेटर की कमी है छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर से दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. यहां लखनपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक बच्ची की मौत के बाद जो हालात बने वो शर्मसार करने वाले हैं. बेटी की मौत के बाद पिता ने शव वाहन की मांग की तो चिकित्सक ने साफ मना कर दिया, जिसके बाद लाचार पिता अपने जिगर के टुकड़े का शव कंधे पर लेकर निकल पड़ा.   दरअसल, शनिवार की सुबह लखनपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 7 वर्षीय बच्ची की मौत हो गई. परिजन बच्ची को बुखार और पेट दर्द की शिकायत होने के बाद स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया था. बच्ची के पिता का आरोप है कि वो अपनी बच्ची को भर्ती कराने के बाद चिकित्सक और नर्स से कहा था कि बुखार के कारण उसकी बेटी कुछ खाई नहीं है, जिसके बाद वहां की एक नर्स ने उसे इंजेक्शन लगाया और कुछ ही देर बाद उसकी मौत हो गई.  बेटी की मौत के बाद माता-पिता बिलख उठे. उन्होंने बच्ची की लाश को ले जाने के लिए शव वाहन की मांग की तो चिकित्सक ने कहा कि यहां शव वाहन की व्यवस्था नहीं है. अपनी व्यवस्था से शव ले जाओ, जिसके

अमिताभ बच्चन के बंगले की दीवार गिराने में 'बेहूदा बहाने' बना रही BMC... लोकायुक्त ने लगाई लताड़

Image
  महाराष्ट्र के लोकायुक्त न्यायमूर्ति वी एम कनाडे ने सोमवार को बीएमसी को लताड़ लगाते हुए कहा कि वह बहाना बना रही है और जुहू में अभिनेता अमिताभ बच्चन के बंगले 'प्रतीक्षा' की दीवार को तोड़ने में देरी कर रही है। पिछले महीने, बीएमसी ने कहा था कि उसने 'प्रतीक्षा' के अंदर आने वाले भूखंड के उस हिस्स को इसलिए नहीं लिया है क्योंकि उसके पास सड़क चौड़ीकरण करने के लिए एक ठेकेदार नहीं है। बीएमसी ने कहा था कि अगले वित्तीय वर्ष में जब इसके लिए एक ठेकेदार की नियुक्ति की जाएगी तो वह परिसर की दीवार को गिरा देगी और जमीन का अधिग्रहण कर लेगी। अपने आदेश में, न्यायमूर्ति कनाडे ने कहा, "मेरे विचार में बीएमसी द्वारा दीवार नहीं तोड़ने का कारण सही प्रतीत नहीं होता है। जब भी कोई सड़क चौड़ीकरण परियोजना शुरू की जाती है, तो इसके लिए बीएमसी द्वारा पर्याप्त बजटीय प्रावधान किया जाता है। जाहिर सी बात है कि बीएमसी बेहूदा बहाना बनाकर बाउंड्री वॉल गिराने में देरी कर रही है।'' उन्होंने कहा, ''यह सामान्य ज्ञान की बात है कि 30 मई के बाद मानसून के दौरान कोई भी विध्वंस कार्य नहीं किया जाता ह

गुजरात हाई कोर्ट ने मीट की दुकानों पर प्रतिबंध मामले में सरकार को लगाई फटकार, जज बोले- कल गन्ने के जूस पर भी रोक लगा दोगे?

Image
 गुजरात में मीट की दुकानों पर प्रतिबंध लगाने वाले फैसले पर गुजरात हाईकोर्ट ने कड़ी फटकार लगाई है। इस मामले को लेकर दाखिल याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस बीरेन वैष्णव ने सरकारी वकील से कहा कि आपको मांसाहारी खाना पसंद नहीं है, यह आपका निजी मामला है। लेकिन आप दूसरों के लिए कैसे तय कर सकते हैं कि उन्हें बाहर क्या खाना चाहिए और क्या नहीं? जस्टिस बीरेन वैष्णव ने कहा कि आप लोगों को उनकी पसंद का खाने से कैसे रोक सकते हैं? ऐसा इसलिए क्योंकि जिसे शक्तियां दी गईं है, उनकी यह राय है, इसलिए यह फैसला लिया गया? कल आप यह भी तय करेंगे कि मुझे अपने घर के बाहर क्या खाना चाहिए? न्यायमूर्ति ने कहा कि नगर निगम आयुक्त को बुलाइए और उनसे पूछिए कि वो यह क्या कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कल वो मुझसे यह भी कहेंगे कि गन्ने के जूस का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे शुगर की बीमारी हो सकती है या कॉफी मेरे स्वास्थ्य के लिए खराब है। बता दें कि मांसाहारी दुकानों पर रोक लगाये जाने के खिलाफ दायर की गई याचिका में कहा गया है कि याचिकाकर्ता सबसे निचले आर्थिक पायदान वाले वर्ग से हैं। इन चीजों की बिक्री से वो अपना भरण-पोषण क

दिल्ली में नए आंदोलन का आगाज:साधु-संतों ने कहा- मुट्ठीभर किसान सरकार को झुका सकते हैं तो हम क्यों नहीं, शस्त्र भी उठाएंगे

Image
  राजधानी दिल्ली अभी किसानों के आंदोलन से मुक्त भी नहीं हुई और अब साधु-संतों ने सरकार को राष्ट्रव्यापी आंदोलन की चेतावनी दे डाली है। रविवार को देश के कई हिस्सों से साधु-संत दक्षिणी दिल्ली के कालकाजी मंदिर में इकट्ठा हुए और मठ-मंदिर मुक्ति आंदोलन की शुरुआत की। संतों ने कहा कि हम केंद्र और राज्य सरकारों को शांति से मनाएंगे, अगर नहीं माने तो 'शस्त्र' भी उठाएंगे। मंच से कई अखाड़ों, आश्रमों और मठों के साधु-संतों ने आक्रामक तेवर दिखाए। इस दौरान किसान आंदोलन का भी जिक्र हुआ। ज्यादातर साधु-संतों का कहना था कि जब मुट्ठी भर किसान दिल्ली के कुछ रास्ते रोककर जमकर बैठ गए तो सरकार को झुकना पड़ा, फिर भला साधु-संतों से ज्यादा अड़ियल कौन होगा! जरूरत पड़ी तो रास्तों पर साधु-संत अपना डेरा बनाएंगे। यानी दिल्ली के लिए संदेश स्पष्ट है-एक और बड़े आंदोलन के लिए तैयार रहो। धर्म और आस्था से जुड़ा होने की वजह से यह आंदोलन जितना महत्वपूर्ण है, उससे भी ज्यादा अहम इसके आयोजन का जिम्मा लेने वाले 'महंत' का परिचय। दरअसल, इस आंदोलन के आगाज के लिए आयोजित इस कार्यक्रम का आयोजन अखिल भारतीय संत समिति ने किय

शर्मनाक: गरीबी और आर्थिक तंगी परेशान परिवार ने एक ही चिता पर किया तीन सगी बहनों का अंतिम संस्कार, ट्रेन के आगे कूदकर दी थी जान

Image
  जौनपुर के बदलापुर क्षेत्र में आर्थिक तंगी से परेशान होकर तीन सगी बहनों ने ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी थी। शनिवार को तीनों का अंतिम संस्कार एक ही चिता पर किया गया। कोई भी जनप्रतिनिधि पीड़ित परिवार का सुध लेने नहीं पहुंचा।यूपी के जौनपुर जिले में ट्रेन के आगे कूदकर खुदकुशी करने वाली तीन सगी बहनों का अंतिम संस्कार शनिवार को रामघाट पर किया गया। दाने-दाने के लिए मोहताज परिवार के पास दाह संस्कार तक के लिए पैसा नहीं था। इतना ही नहीं, जिम्मेदारों ने भी इस ओर ध्यान नहीं दिया। आखिर में रिश्तेदारों की मदद से एक ही चिता पर तीनों का शव रखकर अंतिम संस्कार किया गया। भाई गणेश ने मुखाग्नि दी तो मौजूद रिश्तेदारों की आंखें नम हो गई। महराजगंज थाना क्षेत्र के अहिरौली गांव निवासी निवासी प्रिती (16), आरती (14) और काजल (11) ने बदलापुर थाना क्षेत्र के फत्तूपुर रेलवे क्रासिंग पर गुरुवार रात ट्रेन के आगे कूदकर शुदकुशी कर ली थी। शुक्रवार रात ही शवों का पोस्टमार्टम हो गया। गरीबी का आलम ये रहा कि परिजनों के पास घर शव ले जाने का पैसा नहीं था। परिवार से जुड़े लोगों के मुताबिक रिश्तेदारों की मदद से 600 रुपये में एक

भोपाल में पीएम मोदी के स्वागत में जुटी बुर्काधारी महिलाओं की भीड़ पर उठे सवाल, कांग्रेस ने बताया दूसरे धर्म की

Image
 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भोपाल दौरे के दौरान होशंगाबाद रोड पर जिन बुर्केधारी महिलाओं की भीड़ तख्तियां लेकर उनके स्वागत में खड़ी थी, उस पर अब सवाल खड़े हो रहे हैं। कांग्रेस ने उन महिलाओं पर सवाल खड़ा करते हुए कहा है कि वे मुस्लिम नहीं थीं बल्कि दूसरे समुदाय की थीं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को भोपाल दौरे में बरकतउल्ला विश्वविद्यालय से रानी कमलापति रेलवे स्टेशन तक सड़क के रास्ते गए थे। उनके काफिले का करीब ढाई किलोमीटर के रास्ते में कई जगह स्वागत किया गया था। गेंदे के फूलों से एक जगह उनके काफिले पर ऐसी बारिश की गई थी कि मोदी की बुलटप्रुफ कार ही ढंक गई थी। रास्ते में ही बड़ी संख्या में बुर्केवाली महिलाओं की भीड़ लेकर पूर्व महापौर आलोक शर्मा पहुंचे थे और मोदी का उनके माध्यम से स्वागत कराया था। इन महिलाओं के हाथ में तीन तलाक के लिए धन्यवाद की तख्तियां भी थीं।  कांग्रेस का दावा महिलाएं मुस्लिम नहीं थीं  प्रदेंश कांग्रेस अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने आज इस फोटो में एक महिला के हाथ में बंधा कलावा को दिखाते हुए ट्विटर पर एक पोस्ट डाली है। इसमें उन्होंने लिखा है कि देशभर

*बेखौफ निकल रहे हैं रेत से भरे ट्रक प्रशासन हुआ पस्त माफिया मस्त*

Image
💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥  सचिन शर्मा (अनोखा) पत्रकार मिहोना✍🏻   !!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!  मिहोना नगर के गांधी तिराहा से। रेत से भरे ट्रक गुजर रहे हैं जिन। पर प्रशासन की कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है आम आदमी को ‌परेशानी का शबाब बन रहा हैजबकि प्रदेश में भाजपा की सरकार है और खुलेआम रेत का और नशीले पदार्थों का व्यापार जोरों पर किया जा रहा है शासन और प्रशासन के छोटे अधिकारी रोकते रोकते परास्त हो चुका है लेकिन रेत व नशीले पदार्थों का व्यापार जहां की तहां हैं दिनदहाड़े मिहोना नगर के बाजार से ओवरलोड 18 चक्का ट्रक रेत लेकर के गुजर रहे हैं व जहरीली दारू स्मैक गांजा चरस हीरोइन आदि नशीले पदार्थों का व्यापार चल रहा है लेकिन इन पर कोई भी अधिकारी कार्रवाई नहीं करना चाहता है ऐसे ही रेत से भरे ओवरलोडिंग वाहन बीचोबीच बाजार से निकल रहे हैं मार्केट में घंटों जाम के हालात बने रहते हैं व आमजन लोगों को दुर्घटनाओं से भी जूझना पड़ता है आखिर शासन क्यों नहीं रोक लगा पा रहा है नशीले पदार्थ व रेत का व्यापार 

मध्यप्रदेश: सागर में फुटपाथ पर बेलन बेच रहे बुजुर्ग ने दुनिया को कहा अलविदा, वीडियो हुआ वायरल

Image
  मध्यप्रदेश के सागर जिले में फुटपाथ पर बेलन बेच रहे बुजुर्ग की मौत हो गई। बुजुर्ग का परिवार तंगहाली से जूझ रहा था। इस वजह से 80 साल की उम्र में भी बुजुर्ग को बाजार में फुटपाथ पर बेलन बेचने पड़ रहे थे।  इस घटना का वीडियो वायरल हो गया है। बताया जाता है कि चंदनलाल के चार बेटे और एक बेटी है। एक बेटा मानसिक रोगी है। तीन बेटे मजदूरी करते हैं। बेटी की शादी हो गई है, जबकि चारों बेटे अविवाहित हैं। 70 वर्षीय पत्नी सियारानी भी बीमार रहती है।  जानकारी के मुताबिक मृतक का नाम चंदनलाल राय था। वे तुलसीनगर वार्ड में रहते थे। घर चलाने के लिए वे सालों से लकड़ी के पटा, बेलन जैसे सामान बेचते थे। उनकी छोटी और खुली दुकान कटरा बाजार और आसपास के मेलों में लगती थी। बुधवार को भी उन्होंने राज की तरह कटरा बाजार में दुकान लगाई, लेकिन कुछ देर बाद ही उनकी मौत हो गई। चंदनलाल राय के चार बेटे व एक बेटी है। एक बेटा मानसिक रूप से विक्षिप्त है। बाकी तीन बेटे मजदूरी करते हैं। चारों बेटों की शादी नहीं हुई। मेहनत-मजदूरी कर वह केवल बेटी के ही हाथ पीले कर पाए। उनकी 70 वर्षीय पत्नी सियारानी बीमार हैं, उन्हें मौत की सूचना सदमे क

आर्यन खान केसः सुनील पाटिल का दावा, कैलाश विजयवर्गीय के करीबी ने NCB को दी थी टिप

Image
  मुंबई क्रूज मादक पदार्थ मामले में रोज नई बातें सामने आ रही हैं। अब इस केस के नए गवाह सुनील पाटिल ने रविवार शाम को एसआईटी के समक्ष अपने बयान दर्ज किए। उन्होंने एक मीडिया चैनल से खास बातचीत में आर्यन खान केस को लेकर कई बातों का खुलासा किया। सुनील पाटिल ने कबूला कि आर्यन को छुड़ाने के लिए रिश्वत की पेशकश हुई थी। साथ ही पाटिल ने भाजपा कार्यकर्ता और केस के गवाह मनीष भानुशाली पर उनके अपहरण करने, पीटने और धमकाने तक के आरोप लगाए रविवार देर शाम सुनील पाटिल आर्यन ड्रग्स केस में अपना बयान दर्ज कराने मुंबई पुलिस के विशेष जांच दल के सामने पेश हुए थे। भाषा के मुताबिक, अधिकारियों ने बताया कि पाटिल एक निजी कैब में आजाद मैदान थाने पहुंचे और बाद में दक्षिण मुंबई स्थित एसआईटी कार्यालय गए। उन्होंने कहा कि पाटिल ने रविवार शाम लगभग छह बजकर 15 मिनट पर एसआईटी कार्यालय में प्रवेश किया था।   उधर, इंडिया टुडे से खास बातचीत में सुनील पाटिल ने भाजपा कार्यकर्ता मनीष भानुशाली पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने भानुशाली पर एक होटल में ले जाकर मारपीट करने तक का आरोप लगाया। सुनील पाटिल ने कहा कि भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय

बीते आठ साल में भारत में तेजी से बढ़े गरीब, 2020 में 7 करोड़ 60 लाख का इजाफा- रिपोर्ट में दावा

Image
  एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि भारत में पिछले आठ सालों में 76 मिलियन लोग गरीबी रेखा के नीचे चले गए हैं। देश में गरीबों की संख्या में इतनी तेज वृद्धि पहली बार देखी जा रही है। भारत में पिछले आठ सालों में गरीबों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है। एक रिपोर्ट के अनुसार 2020 तक 7 करोड़ 60 लाख लोग और इस लिस्ट में जुड़ चुके हैं। पिछले कुछ महीनों से देश में बेरोजगारी के आंकड़े भी लगातार बढ़ रहे हैं। द वायर की रिपोर्ट के अनुसार इस रिपोर्ट में एक और चौंकाने वाली बात है। इसमें में जो डाटा लिया गया है वो कोरोना महामारी के शुरूआती दौर तक का है। यानि कोरोना से पहले ही इस संख्या में वृद्धि हो चुकी थी। प्रोफेसर संतोष ने कहा कि हम प्रति व्यक्ति खपत व्यय के सरकार के अपने माप के आधार पर गरीबी के आंकड़े प्रस्तुत करते हैं। भारत ने 2011-12 से उपभोग व्यय सर्वेक्षण (सीईएस) डेटा जारी नहीं किया है, हालांकि राष्ट्रीय सर्वेक्षण संगठन (एनएसओ) हर पांच साल में ये सर्वेक्षण करता है। 2017-18 के सीईएस डेटा को भारत सरकार द्वारा सार्वजनिक नहीं किया गया था। भारत के पीरियोडिक लेबर फोर्स सर्वे (PLFS), जिसमें 1973-74 स

मध्य प्रदेश का हाल: संकट के दौर में भी बर्बादी, नौ दिन में फूंक डाला 30 करोड़ का एक्स्ट्रा कोयला

Image
 एक तरफ पूरे देश में कोयले की कमी से हाहाकार मचा हुआ है। कई पॉवर प्लांट्स के बंद होने की नौबत आ गई है। तमाम शहरों में बिजली कटौती होने लगी है। वहीं इस क्राइसिस टाइम में भी मध्य प्रदेश में थर्मल पावर स्टेशन बिजली उत्पादन के लिए तय मात्रा से ज्यादा कोयला इस्तेमाल कर रहे हैं। यह चौंकाने वाला खुलासा हुआ है एक मीडिया रिपोर्ट में। विशेषज्ञों का दावा है कि एक यूनिट बिजली पैदा करने के लिए 620 ग्राम कोयला पर्याप्त होता है, जबकि इस दौरान यहां पर एक यूनिट बिजली पैदा करने के लिए 768 ग्राम कोयला यूज हुआ। जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल विशेषज्ञों का अनुमान है कि 1 अक्टूबर से 9 अक्टूबर के बीच थर्मल पावर स्टेशनों ने 88000 मीट्रिक टन अतिरिक्त कोयले का इस्तेमाल किया। इसकी कीमत करीब 30 करोड़ रुपए है। टाइम्स ऑफ इंडिया ने यह खबर प्रकाशित की है। इन नौ दिनों में सतपुड़ा, श्री सिंगाजी, संजय गांधी और अमरकंटक थर्मल पावर स्टेशन में कुल 4 लाख मीट्रिक टन कोयले का इस्तेमाल हुआ। जबकि इस दौरान 5229 लाख यूनिट बिजली पैदा की गई। सवाल इस बात पर है कि इस दौरान एक यूनिट बिजली पैदा करने के लिए 768 ग्राम कोयला इस्तेमाल किया गया। ज

*◼️राजनैतिक षड्यंत्रो में उलझा मंडी भूमि अधिग्रहण*

Image
  *✍🏻 पं सचिन शर्मा पत्रकार मिहोना भिंड स 💥दबोह:-   आज नगर के वार्ड नं 8 पतारा बाग में महंत गोपाल कृष्ण ने एक प्रेस वार्ता आयोजित की जिसमे नगर में नवीन गल्ला मंडी परिसर के लिए भूमि अधिग्रहण के लिए एक लंबे अरसे से मध्यप्रदेश मंडी बोर्ड एवं भूमि स्वामी के बीच चली आ रही खींच तानी पर प्रकाश डालते हुये कहा कि मैं मंडी परिसर के लिए अपनी भूमि देने के लिए पहले भी तैयार था और आज भी तैयार हूँ लेकिन कुछ राजनेतिक स्वार्थ के चलते मेरे पूर्वजो के द्वारा मेरे और मंडी बोर्ड के बीच 1974 में ही यह प्रकरण न्यायालय में पहुँच गया था लेकिन तब से आज तक मंडी बोर्ड एवं मेरे बीच न्यायिक लड़ाई जारी है यहा बता दे कि दबोह में पतारा बाग के नाम से प्रसिद्ध स्थल है जहाँ राजनीतिक षड्यंत्रो के चलते पतारा बाग की भूमि को सरकारी जमीन बता कर मंडी बोर्ड दबोह उपमंडी के लिए अधिग्रहण करना चाहती है जबकि न्यायालय के द्वारा भूमि स्वामी महंत सरमन दास के दत्तक पुत्र अमर देव को सम्पूर्ण भूमि का स्वामी बना चुकी है भूमि स्वामी के पुत्र मंहत गोपाल कृष्ण ने बताया कि मंडी बोर्ड के प्रबंध संचालक ने अपने विभागीय अधिकारियों एवं स्थानीय जि

लखीमपुर खीरी कांड: गाड़ी से लोगों को रौंदे जाने का वीडियो वायरल; सरकार चुप, विपक्ष हुआ और हमलावर

Image
 लखीमपुर खीरी हिंसा के एक वीडियो को कांग्रेस ने शेयर किया है। वीडियो में साफ दिख रहा है कि काफिले की एक गाड़ी किस तरह से किसानों को रौंदती हुई जा रही है। इस घटना में आठ लोगों की मौत हो गई थी। लखीमपुर खीरी कांड का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो को लेकर विपक्ष, सरकार पर और हमलावर हो गया है। जबकि सरकार इस मामले पर अभी भी चुप्पी साधे हुए हैं। कांग्रेस के अधिकारिक पेज से इस वीडियो को ट्वीट करके सरकार पर हमला बोला है। वीडियो में साफ दिख रहा है कि काफिले की गाड़ियां किसानों को रौंदती हुई निकलती जा रही है। प्रदर्शनकारी किसानों के पीछे अचानक से गाड़ी आती है और उन्हें टक्कर मारती हुई निकल जाती है। वहीं प्रियंका गांधी ने भी इस वीडियो को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा है- “मोदी जी आपकी सरकार ने बगैर किसी ऑर्डर और एफआईआर के मुझे पिछले 28 घंटे से हिरासत में रखा है। अन्नदाता को कुचल देने वाला ये व्यक्ति अब तक गिरफ्तार नहीं हुआ। क्यों”? उधर संजय सिंह ने भी एक वीडियो ट्विटर पर शेयर कर कहा है कि किसानों की हत्यारी गाड़ियों की रफ्तार देखिये।

।।पुलिस कीअनदेखी।। *सरेआम चल रहे हैं ओवरलोड वाहन पुलिस प्रशासन नहीं कर रहा है कोई कार्यवाही

Image
सचिन शर्मा पत्रकार मिहोना✍🏻  **************************************  मिहोना नगर में काफी समय से यह समस्या बनी हुई है ओवरलोड वाहनों पर पुलिस प्रशासन नहीं कर पा रहा है काबू छोटे वाहनों से लेकर के बड़े वाहन तक ओवरलोडिंग कर के निकल रहे हैं।  उन बहनों पर प्रशासन कि कोई भी निगरानी नहीं है जो ओवरलोडिंग वाहन सड़कों को क्षतिग्रस्त कर रहे हैं व आवागमन में लोगों को काफी परेशानी का सामना उठाना पड़ा रहा है नगर के बीचोबीच बाजार से ओवरलोडिंग वाहन गुजर रहे हैं निकलते हैं जिससे जाम के भी हालात बने रहते हैं । व सड़कों पर दो-दो फीट के गहरे गड्ढे हो चुके हैं जिससे पैदल चलना भी दुश्वार हो गया है ना तो पुलिस प्रशासन कोई कार्रवाई कर रहा है और ना हीं पीडब्ल्यूडी के अधिकारी सड़कों पर गहरे गड्ढों को सही नहीं करवा रहे हैं अब आमजन करें तो क्या करें और बरसात के इस मौसम में  सड़कों पर पानी भरा रहता है  सड़कों पर कुछ भी नहीं दिखाई  देता है हादसे होते-होते बच जाते हैं।  नगर के लोगों का कहना है, की पुलिस प्रशासन ओवरलोडिंग वाहनों बालों से मिलीभगत है इसीलिए कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है उखड़ी हुई सड़कों से वाहन चालकों

*शाजापुर प्रशासन की मंशा पर उठ रहे सवाल*

Image
  अजय राज केवट शाजापुर *प्रखर न्यूज़ व्यूज एक्सप्रेस भोपाल* *कार्रवाई करवाने के लिए कितने लोगों को होना पड़ेगा षड्यंत्र का शिकार* शुजालपुर नगर परिषद जिसका कार्य कल्याणकारी योजनाओं को हितगृहियो तक पहुंचा कर उन्हें लाभान्वित करना । नगर के समस्त निर्माण को दिशा दशा को ध्यान में रखकर नगर की सुरक्षा और सुंदरता में कार्य करना । लेकिन देखा गया कि नगर परिषद अकोदिया के पद पर पदस्थ जिम्मेदार लोग जिन्हें नगर परिषद अकोदिया की कमान विश्वास के साथ सौंपी गई आज उन्हीं ने शासन के साथ विश्वासघात कर धोखाधड़ी से जनता के पैसों का दुरुपयोग कर अपने हित व परिजन को लाभ दिलाने तक ही सीमित रखा। जब इनके खिलाफ किसी जनमानस द्वारा आपत्ति जताई और आवाज उठाने का प्रयास किया तो अधिकारियों ने अपने अधिकार का दुरुपयोग कर षड्यंत्र कारी नीति अपनाई और जेल भिजवाया लेकिन कहते हैं कि ।। सत्य परेशान हो सकता है लेकिन पराजित नहीं।। यह वाक्य को सार्थक करने में जुटा सत्य चीख चीख कर कहने के बाद भी सत्ताधारीयो के इशारों पर कठपुतलियों की तरह नाचने वाला प्रशासन भी मौन होकर सिर्फ तमाशा देख रहा है। जबकि तहसीलदार द्वारा जांच में साफ शब्दों

*वार्ड क्रमांक - 8 नाली निर्माण भ्रष्टाचार कि ना तेरवी ना सोलहा श्राद्ध ऐसे ही छोड़ गए सीएमओ भगवान सिंह भिलाला और चंदन सिंह तोमर*

Image
* अजय राज केवट* *प्रखर न्यूज़ व्यूज एक्सप्रेस भोपाल* *नाली निर्माण की जांच अब तीसरी लहर की चपेट में* शाजापुर अकोदिया नाली रहवासियों से पूछ रही मेरे जन्म दाता कहां है नगर परिषद वार्ड क्रमांक 8 राठी कॉलोनी मैं नगर परिषद मुख्य अधिकारी भगवान सिंह भिलाला एवं इंजीनियर चंदन सिंह तोमर द्वारा जनता की मांग पर नाली निर्माण कराया, सीएमओ एवं इंजीनियर द्वारा जनता की मांग पर यह नाली निर्माण कुछ ज्यादा ही अच्छा टिकाऊ निर्माण करवाया गया जो ताराफे के साथ ही नाली निर्माण की हस्तियां बाहर आ गई अकोदिया नगर  परिषद वार्ड क्रमांक 8 की भोली-भाली जनता को एक सोन पपड़ी के जैसी नाली निर्माण करवा कर शासन को और भोली भाली जनता को भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा दिया कृष्णकांत मेवाड़ा द्वारा सर्वप्रथम नगर परिषद उच्च अधिकारी को घटिया नाली निर्माण की शिकायत 25_ 7_ 2019 को अकोदिया नगर परिषद में मुख्य अधिकारी भगवान सिंह भिलाला को अवगत कराया तो उन्होंने इस नाली निर्माण को निरंतर जारी रखा और ना ही नाली निर्माण में कुछ सुधार कराया खबर में किसी व्यक्ति को संदेह है तो आज भी वार्ड क्रमांक 8 मैं नाली निर्माण है काई जगह से नालियां पं