आर्यन खान केसः सुनील पाटिल का दावा, कैलाश विजयवर्गीय के करीबी ने NCB को दी थी टिप

 


मुंबई क्रूज मादक पदार्थ मामले में रोज नई बातें सामने आ रही हैं। अब इस केस के नए गवाह सुनील पाटिल ने रविवार शाम को एसआईटी के समक्ष अपने बयान दर्ज किए। उन्होंने एक मीडिया चैनल से खास बातचीत में आर्यन खान केस को लेकर कई बातों का खुलासा किया। सुनील पाटिल ने कबूला कि आर्यन को छुड़ाने के लिए रिश्वत की पेशकश हुई थी। साथ ही पाटिल ने भाजपा कार्यकर्ता और केस के गवाह मनीष भानुशाली पर उनके अपहरण करने, पीटने और धमकाने तक के आरोप लगाए

रविवार देर शाम सुनील पाटिल आर्यन ड्रग्स केस में अपना बयान दर्ज कराने मुंबई पुलिस के विशेष जांच दल के सामने पेश हुए थे। भाषा के मुताबिक, अधिकारियों ने बताया कि पाटिल एक निजी कैब में आजाद मैदान थाने पहुंचे और बाद में दक्षिण मुंबई स्थित एसआईटी कार्यालय गए। उन्होंने कहा कि पाटिल ने रविवार शाम लगभग छह बजकर 15 मिनट पर एसआईटी कार्यालय में प्रवेश किया था।

 

उधर, इंडिया टुडे से खास बातचीत में सुनील पाटिल ने भाजपा कार्यकर्ता मनीष भानुशाली पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने भानुशाली पर एक होटल में ले जाकर मारपीट करने तक का आरोप लगाया। सुनील पाटिल ने कहा कि भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय के एक करीबी ने मुंबई के तट पर जहाज पर होने वाली कथित 'रेव पार्टी' के बारे में गुप्त सूचना दी थी। जिसके बाद एनसीबी ने क्रूज जहाज पर छापा मारा और आर्यन खान को गिरफ्तार किया। सुनील पाटिल ने कहा कि छापेमारी के दौरान किरण गोसावी और भाजपा कार्यकर्ता मनीष भानुशाली भी मौजूद थे

।सुनील पाटिल का नाम शनिवार को आर्यन खान ड्रग्स केस में अचानक तब आया जब महाराष्ट्र भाजपा नेता मोहित काम्बोज ने दावा किया कि पाटिल इस मामले में 'मास्टरमाइंड' हैं और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेताओं से उनका लिंक है। सुनील पाटिल के अनुसार, क्रूज पार्टी के बारे में गुप्त सूचना नीरज यादव ने दी थी, जो भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का करीबी है।


बता दें कि 7 अक्टूबर को इंडिया टुडे से इंटरव्यू में नीरज यादव ने दावा किया था कि उसने मनीष भानुशाली और किरण गोसावी को 2 अक्टूबर को क्रूज पर पार्टी के बारे में सूचित किया था। भोपाल निवासी नीरज यादव के अनुसार, भाजपा कार्यकर्ता मनीष भानुशाली ने तब एनसीबी अधिकारियों को कथित रेव पार्टी के बारे में सूचना दी थी। इस पूरे मामले में अपनी कथित भूमिका पर सुनील पाटिल ने बताया कि वह मनीष भानुशाली को जानता है, लेकिन किरण गोसावी को नहीं जानता।

सुनील पाटिल ने आरोप लगाया कि मनीष भानुशाली ने उसका अपहरण किया। उसे दिल्ली के एक होटल में पीटा गया और धमकी भी दी गई। उन्होंने कहा कि वह मामले में शामिल नहीं था और उनकी एकमात्र भूमिका मनीष भानुशाली को सैम डिसूजा से मिलवाने की थी, जिन्होंने मामले में आर्यन खान की मदद करने के लिए कथित तौर पर रिश्वत की पेशकश की थी। पाटिल ने दावा किया, "सैम, मनीष और किरण ने यह पूरा काम किया और आर्यन खान की रिहाई पैसों की बात की थी।


गौरतलब है कि रिश्वत मामले में किरण गोसावी के बॉडीगार्ड प्रभाकर सेल के दावे के बाद एनसीबी ने क्रूज जहाज पर छापा मारने वाले एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े के खिलाफ विभागीय जांच शुरू कर दी है।

Popular posts from this blog

शुजालपुर *कुर्सी तोड़ टी.आई रतन लाल परमार ऐसा काम ना करो ईमानदार एस.पी को बदनाम ना करो*

फल ठेले बाले ने नपा सीएमओ पर बरसाए थप्पड़, कर्मचारियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा वीडियो वायरल

ट्रांसफर नीति पर अपने ही नियम तोड़ रहा एनएचएम ऑनलाइन की जगह ऑफलाइन किए कम्नूटी हेल्थ ऑफिसर के ट्रांसफर